देश को बचाने का अंतिम प्रयास ‘जनसंख्या नियंत्रण कानून’ - सुरेश चव्हाण के

AajKiDuniya 13/2/2018

  नई दिल्ली,देश की खतरनाक रूप से बढ़ती असंतुलित जनसंख्या वृद्धि दर को रोकने के लिए एक कठोर और प्रभावशाली 'जनसंख्या नियंत्रण कानून' के निर्माण के उद्देश्य से सरकार एवं विपक्ष पर जनदबाव के लिए 'राष्ट्र निर्माण संगठन' द्वारा 70 दिवसीय 'भारत बचाओ महा रथयात्रा ' का आयोजन किया जा रहा है। नई दिल्ली स्थित प्रेस क्लब में आयोजित एक वृहत संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी देते हुए संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ,समाजसेवी एवं वरिष्ठ पत्रकार सुरेश चव्हाणके ने कहा कि यह महा रथ यात्रा 18 फरवरी को जम्मू से शुरू होकर देश भर के सभी प्रमुखराज्यों से गुजरती हुई 22 अप्रैल को नई दिल्ली में सम्पन्न होगी। यात्रा की आवश्यकता पर चर्चा करते हुए सुरेश चव्हाणके ने कहा कि जनसांख्यिक असंतुलन के कारण देश की एकता, अखंडता, सम्प्रभुता तथा लोगों की धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकारों पर गंभीर खतरा उत्पन्न हो गया है। देश में बहुसंख्यक हिंदू समाज की जनसंख्या तेजी से घटती जा रही है और देश का जनसांख्यिकीय अनुपात इस कदर बिगड़ गया है कि कई राज्यों में पूर्ण रूप से और कुछ राज्यों में क्षेत्रीय स्तर पर हिन्दू अल्पसंख्यक हो चुका है। सनद रहे कि सन् 1947 में देश का बंटवारा धर्म के आधार पर ही हुआ था। हालांकि करोड़ों लोगों की लाशें बिछाकर हुए विभाजन के बावजूद भारत धर्म निरपेक्ष ही बना रहा है। आज एक बार फिर वैसी ही चुनौती देश के सामने पैदा होती जा रही है जहाँ एक और विभाजन की आशंका प्रबल हो उठी है। जहाँ एक ओर बहुसंख्यक हिंदू समाज परिवार कल्याण को अपना कर कम बच्चे पैदा कर सरकार की नीतियों का अनुसरण कर रहा है, तो दूसरी ओर अल्पसंख्यक समाज में अनियंत्रित जन्मदर आदर्श जनसांख्यिकीय अनुपात के लिए गंभीर खतरा उत्पन्न कर रहा है। ध्रुवीय सत्य है कि हिंदुस्तान की सुरक्षा तभी संभव है, जब देश का मौलिक आदर्श जनसांख्यिकीय अनुपात अक्षुण्ण रहे। इसीलिए हमने नारा दिया है –
    “हम दो, हमारे दो तो सबके दो”
    सुरेश चव्हाण के ने एक कठोर कानून के निर्माण पर जोर देते हुए कहा कि
   आबादीगत परिवर्तन की गंभीर चुनौती को देखते हुए देश में जनसंख्या नियंत्रण हेतु एक कठोर कानून के निर्माण की गहन आवश्यकता महसूस की जा रही है। राष्ट्रीय सुरक्षा, एकता, अखंडता और संप्रभुता से जुड़ी इस गंभीर समस्या का निदान बिना कठोर कानून बनाये संभव नहीं है। इसीलिए 'राष्ट्र निर्माण संगठन' ने देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने के लिए केन्द्र सरकार, संसद और तमाम राजनीतिक दलों पर दबाव बनाने के लिए 'भारत बचाओ महा रथयात्रा' के आयोजन

Related Post