एनडीए के अंदर सब कुछ अच्छा नहीं, बीजेपी ने बिहार सरकार पर तुष्टिकरण का लगाया आरोप

AajKiDuniya 10/4/2018

  पटना : बिहार एनडीए में ऑल इज वेल नहीं है। राज्य में बीजेपी के नेताओं ने ही अपनी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बीजेपी विधायकों ने रामनवमी के जुलूस के दौरान बिहार में हुई हिंसा के बाद पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं। बीजेपी नेता अरुण कुमार सिन्हा का आरोप है कि सरकार अल्पसंख्यक समाज को खुश करने के लिए बहुसंख्यकों पर कार्रवाई कर रही है। डीजीपी के एस द्विवेदी से मुलाकात कर बीजेपी नेताओं ने शिकायत की कि प्रशासन जानबूझकर अल्पसंख्यक समाज के असामाजिक तत्वों से नरमी बरत रहा है। हालांकि जेडीयू इन आरोपों को खारिज कर रहे हैं. दावा है कि नीतीश कुमार कभी तुष्टिकरण की राजनीति नहीं करते ।
   
   
   गौरतलब है कि रामनवमी पर शोभायात्रा के दौरान और उसके बाद कई जिलों में भड़की हिंसा में कई बीजेपी नेताओं को गिरफ्तार किया गया था। यहां तक कि हिंसा में एक मस्जिद और मदरसे को हुए नुकसान की भरपाई के लिए सरकार की ओर से मदद भी दी गई। नीतीश सरकार का ये रुख कई बीजेपी नेताओं को रास नहीं आया। दो दिन पहले ही नीतीश कुमार ने बिना नाम लिए बीजेपी नेताओं को नसीहत दी थी। नीतीश ने कहा था कि अगर किसी ने कानून-व्यवस्था तोड़ने की कोशिश की तो उसे जेल जाना होगा। किसी को बख्शा नहीं जाएगा ।

Related Post