पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कैराना उपचुनाव में बीजेपी को भारी पड़ सकती है गन्ना किसानों की नाराजगी

AajKiDuniya 15/5/2018

  शामली: पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शामली में किसानों ने सर शादी लाल शुगर मिल पर गन्ने के भुगतान को लेकर जोरदार हंगामा किया. किसानों ने बीजेपी के खिलाफ नारेबाजी की और वोट ना देने का ऐलान किया.
   
   आपको बता दें कि कैराना में लोकसभा उपचुनाव है. माना जा रहा है कि इस चुनाव में बीजेपी को किसानों का गुस्सा झेलना पड़ सकता है.
   
   12 मई को किसानों ने चीनी मिल पर प्रदर्शन किया. किसानों ने कहा कि बच्चों की पढ़ाई से लेकर लड़की की शादी तक में पैसों के कारण परेशानी हो रही है. जानकारी के मुताबिक शामली की चीनी मिलों पर किसानों का 560 करोड़ रुपया बकाया है.
   
   ओले, बारिश और आंधी-तूफान से यूपी भर में तबाही, देखें हिला देने वाली तस्वीरें
   
   अमित कुमार नाम के किसान ने बताया कि उनके बच्चे को स्कूल ने निकाल दिया क्योंकि वह फीस नहीं भर पाए. उनके बच्चे का एक साल खराब हो गया है. इसी बात ये नाराज अमित ने बीजेपी को वोट ना देने का फैसला किया है.
   
   रामफल नाम के किसान का कहना है कि सरकार ने 14 दिनों में गन्ने के पेमेंट का दावा किया था. किसान परेशान है और झूठे वादे से नाराज है.
   
   महेंद्र सिंह का कहना है कि हम बीजेपी से नाराज हैं, हम बीजेपी को वोट नही देंगे. बीजेपी जब कुछ नहीं कर रही है, गन्ना का पेमेंट नहीं मिला है और हमारे झोटे (जानवर) मर गए तो क्यों दे हम बीजेपी को वोट.
   
   विपिन का कहना है कि वो भी बीजेपी से नाराज हैं क्योंकि बच्चों की फीस नहीं जा पा रही है. सरकार ने 14 दिन का वादा किया था. किसानों के हालात खराब हो रहे हैं और बिजली का बिल जमा नहीं हो रहा है. अब चुनाव है इसमें बीजेपी को अंजाम भुगतना पड़ेगा.

Related Post