FIFA 2018: ब्राजील और स्विट्जरलैंड का रोमांचक मुकाबला 1-1 से हुआ ड्रॉ

AajKiDuniya 18/6/2018

  FIFAफीफा वर्ल्ड कप में पांच बार की विश्व चैंपियन ब्राजील और स्विट्जरलैंड के बीच का महामुकाबला रविवार को 1-1 की बराबरी पर खत्म हुआ। ब्राजील की तरफ से फिलिप कोटिन्हो ने 20वें मिनट शानदार गोल दागकर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई। वहीं, स्विट्जरलैंड की तरफ से स्टीवन जुबर ने 50वें मिनट में गोलकर ब्राजील की बराबरी की। दोनों टीमों के बीच फीफा वर्ल्ड कप 2018 का यह 11वां मुकाबला 1-1 की बराबरी पर समाप्त हुआ। 40 साल में पहली बार ऐसा हुआ है कि ब्राजील विश्व कप में अपना पहला मैच नहीं जीत सका। पहले हाफ का खेल लगभग 15 मिनट तक दोनों टीमों ने अच्छा खेला। मगर ब्राजील के स्टार खिलाड़ी फिलिप कोटिन्हो ने लंबी दूरी से करारा शॉट लगाकर शानदार गोल किया। इसके साथ ही ब्राजील की टीम पहले ही हाफ में विपक्षी टीम स्विट्जरलैंड पर 1-0 की बढ़त बना ली। ब्राजील ने इस मुकाबले में अपने खेलने का अंदाज बिल्कुल नहीं छोड़ा। हालांकि, इस मैच में चोट से वापसी किए नेमार काफी बार गिरे। मगर वैसा कोई नुकसान उनको नहीं झेलना पड़ा।
   
   वहीं, दूसरी ओर स्विट्जरलैंड मैच में एक अच्छी शुरुआत की थी लेकिन ब्राजील शुरू से ही उनपर हावी रहे। बावजूद इसके स्विट्जरलैंड ने अपने खेल में कोई परिवर्तन नहीं किया। 40 मिनट तक का खेल समाप्त हो चुका था लेकिन स्विस टीम ब्राजील पर काबू नहीं पा रही थी। पहले हाफ का खेल समाप्त होने तक ब्राजील 1-0 की बढ़त पर थी। वहीं, दूसरे हाफ में कुछ ही देर के बाद वहीं हुआ जिसका इंतजार था। स्विट्जरलैंड के स्टीवन जुबर ने 50वें मिनट में शानदार गोल दागकर अपनी टीम को 1-1 की बराबरी दिलाई। इसके बाद खेल में तमाम उताड़ चढ़ाव आए, लेकिन दोनों में से कोई भी टीम गोल करने में सफल नहीं रही और इसके साथ ही ग्रुप-ई का यह महामुकाबला 1-1 की बराबरी पर खत्म हुआ।
   
   गौरतलब है कि रूस के रोस्तोव एरीना स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में ब्राजील के कोच टीटे को नेमार से काफी उम्मीदें थीं लेकिन वह इस मैच में कुछ खास नहीं कर पाए। दूसरी तरफ फीफा विश्व कप में अभी तक खिताब जीतने से नाकाम रही स्विट्जरलैंड की उम्मीदों पर उनके यंग ब्रिगेड खड़े उतरे, जिसका नतीजा यह रहा कि स्विट्जरलैंड ने पांच बार की विश्व विजेता ब्राजील के खिलाफ मुकाबला 1-1 से ड्रॉ खेला। बता दें कि ब्राजील और स्विट्जरलैंड के बीच यह दूसरा वर्ल्ड कप मैच था। इससे पहले साल 1950 में दोनों टीमें आमने-सामने थी और उस समय भी मुकाबला 2-2 से ड्रॉ रहा था। 1978 के बाद ऐसा पहली बार हुआ है कि ब्राजील की टीम अपना पहला मैच नहीं जीत पाई हो।

Related Post